Sponser


Sunday, July 31, 2016

ड्रिल : 4 स्टेप्स में धीरे चल से दाहिने सलूट की करवाई और जरुरत

पिछले पोस्ट में हमने ड्रिल "धीरे चाल से सामने सलूट" की जानकारी हासिल की इस पोस्ट में हम "धीरे चाल से दाहिने सलूट(Dhire chaal se dahine salute)" की करवाई के बारे में जानकारी हासिल करेंगे !


पहले हम इस ड्रिल की जरूरियात के बारे में जानेगे  उसके बाद हम ये ड्रिल कैसे किया जाता है और हर एक एक्शन के दौरान देखने वाली बातें के बारे में जानकारी शेयर करेंगे!

धीरे चाल से दाहिने सलूट की जरुरत(Dhire chaal se dahine salute ki jarurat) :   बड़ी बड़ी परेडो में जो कमांडर खली हाथ होते है वो धीरे चाल से मंच से गुजरते समय दाहिने सलूट की करवाई करते है !  इस करवाई का नमूना देते वक्त उस्ताद को चाहिए की स्क्वाड को आधे दायरा बनवाए और क्वैड के बाएँ से तिरछा  मार्च करके नमूना दे जिससे की सभी को दिखाई दे !

जरुर पढ़े : पुलिस यूनिफार्म पहनते समय देखनेवाली बातें

धीरे चाल से दाहिने सलूट  वोर्ड ऑफ़ कमांड(Dhire chaal se dahine salute ki word of command) : सामने से धीरे चल बढ़ो , सलूट करना दाहिने सलूट सलूट !  गिनती से करवाई का वर्ड ऑफ़ कमांड - वर्ड ऑफ़ कमांड सामने से धीरे चल बढ़ो , गिनती से सलुते करना दाहिने सलुट एक -एक स्क्वाड दो , दो-तीन-चार -पांच. स्क्वाड तीन डाउन , स्क्वाड चार बढ़ो ! थम एक -दो

धीरे चाल से दाहिने सलूट की ड्रिल करवाई(Dhire chaal se dahine salute ki drill ) :  

गिनती से करवाई(Dhire chaal se dahine salute ki ginti se drill karwai) धीरे चल से वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है गिनती से सलूट करना दाहिने सलूट एक , यह वर्ड ऑफ़ कमांड उस समय मिलता है जब दाहिने पांव को बाएँ पांव क्रॉस कर रहा हो या दाहिने पांव  जमीन पर हो तो इस वर्ड ऑफ़ कमांड पर बाएँ पांव को 30 इंच आगे रखें और दाहिने सलूट कर के रुक जाये !
 वर्ड ऑफ़ कमांड सामने से धीरे चल बढ़ो

जरुर पढ़े :सलूट की महत्व और सलूट कैसे कब करने का तरीका

ड्रिल करवाई और देखने वाली बाते (Dhire chaal se dahine salute me karwai aur dekhne wali baten) : 
  1. वर्ड ऑफ़ कमांड सामने से धीरे चल  बढ़ो , गिनती से सलुट करना दाहिने सलूट एक -एक , इस पोस्तिओं में देखने वाली बातें ! बाएँ पांव आगे जमीन पर लगा हुआ , बदन का बोझ बाएँ पांव पर , दाहिने पों का पंजा जमीन पर और एडी उठी हुई ! सलूट सीखे हुए तरीके के मुताबिक दाहिने तरफ किया हुआ बाकि की पोजीशन सावधान !
  2. वर्ड ऑफ़ कमान मिलता है दो  तो दाहिने पांव से दो की गिनती शुरू करते हुए पांच की गिनती तक मार्च और रुक जाएँ ! स्क्वाड दो- दो -तीन -चार -पांच! इस पोजीशन में देखने वाली बाते , धीरे चाल से पञ्च कदम जमीनि फासला तय किआ हुआ , बाकि पोजीशन नम्बर -एक की तरह !
  3. वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड तीन -तो दाहिने पांव को आगे लें और सलूट गिराएँ और शोउटिंग करे डाउन ! स्क्वाड तीन डाउन ! इस पोजीशन में देखने वाली बाते - दाहिना पों पूरा जमीन पर बदन का बोझ दाहिने पांवपर बाएँ पांव का पंजा ज़मीन पर एडी उठी हुई बाकि पोजीशन सावधान !
  4.  वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड चार- तो बाएँ पांव से धीरे चाल शुरू करें शोउटिंग करे बढ़ो ! स्क्वाड चार बढ़ो थम एक-दो 

जब गिनती से इस ड्रिल को बार बार करते है तो पूरा एक्शन दिमाग में बैठ जाता है उसके बाद इस ड्रिल को समन्य वे में करते है बिना रुके हुए !

इस प्रकार से धीरे चाल से दाहिने सलूट की करवाई पूरी हुई !उम्मीद है पोस्ट पसंद आएगा अगर कोई कमेंट या सुझाव हो तो जरुर दे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब  करके हमलोगों को सपोर्ट करे!

इस ब्लॉग से कुछ डाउनलोड करना है तो आप डाउनलोड सेक्शन से जा कर उसे लिंक के ऊपर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते है !

इसे भी  पढ़े :
  1. 222 इंग्लिश - हिंदी परेड कमांड का संकलन 
  2. फासला रखते हुए दाहिने, बाएँ और मध्य सज की करवाई
  3. 4 स्टेप्स के तेज चाल से दाहिने मुड करवाई पूरा करना
  4. 4 स्टेप्स में तेज चल कि करवाई कैसे की जाती है
  5. 5 स्टेप्स में तेज चाल से पीछे मुड की पूरी करवाई
  6. खड़े खड़े सलूट का तरीका और जरुरत
  7. 2 स्टेप्स में खड़े खड़े दाहिने सलूट की करवाई की तरीके
  8.  2 स्टेप्स में खड़े खड़े बाएँ सलूट की करवाई का तरीका
  9. विशार्जन , लाइन तोड़, और स्वस्थान का ड्रिल करवाई
  10. धीरे चाल से सामने सलूट की जरुरत और करवाई 

ड्रिल: धीरे चाल से सामने सलूट की जरुरत और करवाई

पिछले पोस्ट में  हमने  "विशार्जन, लाइन तोड़ और स्वस्थान " के बारे में जानकारी हासिल की है ! इस पोस्ट में हम खली हाथ ड्रिल " धीरे चाल से सामने सलूट(Dhire chaal se samne salute)" के बारे में जानकारी हासिल करेंगे !


धीरे चाल से सामने सलूट की जरुरत(Dhire chaal se samne salute ki jarurat) :तेज चाल में सामने सलूट की हरकतों को दुरुस्त करने के लिए धीरे चाल से सामने सलूट की करवाई की जाती है!

जरुर पढ़े :  फूट ड्रिल -धीरे चल और थम

धीरे चाल से सामने सलूट की वर्ड ऑफ़ कमांड(Dhire chaal se samne salute ki word of command) : वर्ड ऑफ़ कमांड और नमूना दिखाते समय उस्ताद को चाहिए की स्क्वाड को आधे दायरा में खड़ा करे औरउसके बाद कमांड और करिवाई का नमूना दे !
  • धीरे चाल से सामने सलूट की सामान्य वर्ड ऑफ़ कमांड : सामने से धीरे चल बढ़ो , सलूट करना सामने सलूट सलूट !
  • धीरे चाल से सामने सलूट की गिनती से  वर्ड ऑफ़ कमांड:  सामने से  धीरे चल बढ़ो , गिनती से सलूट करना सामने सलूट एक, एक-दो , स्क्वाड दो , स्क्वाड तीन , स्क्वाड चार , स्क्वाड पांच, बढ़ो , थम एक दो !
धीरे चाल से सामने सलूट की ड्रिल करवाई(Dhire chaal se samne salute ki drill karwai) : 
  1. तेज चाल से वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है  गिनती से सलूट करना सामने सलूट एक , यह वर्ड ऑफ़ कमांड उससमय मिलता है जब बाएँ पांव दाहिने पांव को क्रॉस कर रहा हो या दाहिने पांव जमीन पर हो तो इस वर्ड ऑफ़ कमांड पर थम करेने शोउटिंग करे एक दो ! वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है सामने से धीरे चल बढ़ो , गिनती से सलूट करना सामने सलूट थम , एक -दो 
  2. इस पोजीशन ऑफ़ सावधान  वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड दो - तो खड़े खड़े सामने सलूट करे और काउंट करे स्क्वाड - एक,दो,तीन,एक ! इस पोजीशन में देखने वाली बातें : एक  बार खड़े खड़े सामने सलूट  की करवाई की हुई !   बाकि की पोजीशन सावधान !
  3.  वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है  स्क्वाड -तीन  तो दुबारा सामने सलुट करें और काउंटिंग करे स्क्वाड तीन -एक,दो,तीन ,! इस पोजीशन में देखने वाली बातें सामने सलूट किया हुआ सावधान पोजीशन में खड़ा!
  4.  वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है  स्क्वाड -चार तो  पीछे मुड की करवाई करे ! इस पोजीशन में देखने वाली बात 180 डिग्री पीछे मुड की करवाई की हुई बाकि की पोजीशन सावधान 
  5.  वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है  स्क्वाड -पांच  तो बाएँ पांव से धीरे चाल की करवाई शुरू करें और शौतिंग करे बढ़ो ! स्क्वाड पांच बढ़ो -थम एक-दो !

इस प्रकार से धीरे चाल से सामने सलूट की करवाई पूरी हुई !उम्मीद है पोस्ट पसंद आएगा अगर कोई कमेंट या सुझाव हो तो जरुर दे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब  करके हमलोगों को सपोर्ट करे!

इस ब्लॉग से कुछ डाउनलोड करना है तो आप डाउनलोड सेक्शन से जा कर उसे लिंक के ऊपर क्लिक करकेडाउनलोड कर सकते है !

इसे भी  पढ़े :
  1. एक लाइन, दो लाइन और तीन लाइन कब और कैसे बनाया जाता है
  2. 222 इंग्लिश - हिंदी परेड कमांड का संकलन 
  3. फासला रखते हुए दाहिने, बाएँ और मध्य सज की करवाई
  4. 4 स्टेप्स के तेज चाल से दाहिने मुड करवाई पूरा करना
  5. 4 स्टेप्स में तेज चल कि करवाई कैसे की जाती है
  6. 5 स्टेप्स में तेज चाल से पीछे मुड की पूरी करवाई
  7. खड़े खड़े सलूट का तरीका और जरुरत
  8. 2 स्टेप्स में खड़े खड़े दाहिने सलूट की करवाई की तरीके
  9.  2 स्टेप्स में खड़े खड़े बाएँ सलूट की करवाई का तरीका
  10. विशार्जन , लाइन तोड़, और स्वस्थान का ड्रिल करवाई

Drill: विशार्जन , लाइन तोड़, और स्वस्थान का ड्रिल करवाई

पिछले पोस्ट के हमने खाली हाथ  ड्रिल  "खड़े खड़े बाएँ सलूट"(Khade khade salute) के बारे में जानकर हासिल की इस पोस्ट में हम विसर्जन , लाइन तोड़ और स्वस्थान  क्या है(Visharjan, line tod aur swasthan kya hai ) और उसकी करवाई के बारे में जानकारी हासिल करेंगे !


जैसे की आप देखते होंगे की आर्म्ड फाॅर्स की कोई भी फालेन या मीटिंग हो और जवान इकठ्ठा हुए हो तो अंत में कभी विशार्जन तो कभी लाइन तोड़ का आदेश दिया जाता है यानि की किसी प्रोग्राम का खात्मा विशार्जन या लाइन तोड़ की वर्ड ऑफ़ कमांड से होता है ! इस लाइन तोड़ और विशार्जन के  वर्ड ऑफ़ कमांड में अंतर क्या है यानि  कब लाइन तोड़ और कब विशार्जन का वर्ड ऑफ़ कमांड इस्तेमाल किआ जाता है !

जरुर पढ़े : 4 स्टेप्स में तेज चल कि करवाई कैसे की जाती है

विसर्जन , लाइन तोड़ और स्वस्थान  का जरुरत(Visharjan, line tod aur swasthan  ki jarurat):
  1. विशार्जन(Visharjan) : जब ट्रूप्स को दुबारा फलइन नहीं  करना हो या  परेड  को लम्बे समय के लिए छोड़ना हो  तो विशार्जन  वर्ड ऑफ़ कमांड दिया जाता है  !
  2. लाइन तोड़(Line tod) : जब ट्रूप्स को थोड़ी देर के लिए आराम देना हो और दुबारा फलइन  करना हो तो लाइन तोड़  का वर्ड ऑफ़ कमांड दिया जाता है !
  3. स्वस्थान(Swasthan) : ये करवाई उस वक्त की जाती है जब लेक्चर हॉल से क्लास को छोड़ना हो 
विशार्जन , लाइन तोड़  और स्वस्थान  का वर्ड ऑफ़ कमांड(Visharjan, line tod aur swasthan  ka word of command) 
  • विशार्जन : स्क्वाड/परेड/पलटन विशार्जन 
  • लाइन तोड़ : स्क्वाड/परेड/पलटन लाइन तोड़ 
  • स्वस्थान : क्लास स्वस्थान  

विशार्जन , लाइन तोड़ और स्वस्थान   का करवाई ((Visharjan, line tod aur swasthan  ki drill karwai) : जब उस्ताद विशार्जन या लाइन तोड़ का नमूना पेश कर रहे हो तो उस समय स्क्वाड को आधा दायरा में फल इन कर के स्क्वाड की और मुह करके नमूना देना चाहिए !
  •  विशार्जन की करवाई :जब सावधान पोजीशन से वर्ड फ कमांड मिलता है  स्क्वाड विशार्जन तो करवाई इस प्रकार से होगी !  पूरी स्कौड़ एक साथ दाहिने मुड की करवाई कर के सलूट  करेगा और तीन कदम आगे लेकर थम करेगा और सीधे निकल जायेगा ! 
  • लाइन तोड़ : जब सावधान पोजीशन से वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड लाइन तोड़ तो करवाई इस प्रकार से होगी ! पूरी स्क्वाड एक साथ दाहिने मुड की करवाई करेगी और तीन कदम आगे लेकर थम  करेगी फिर सिहे निकल जाएगी ! विशार्जन और लाइन तोड़ की करवाई एक जैसी ही है अंतर केवल इतना है की विशार्जन में सलूट करते है जब की लाइन तोड़ में सलूट नहीं करते है बाकि करवाई एक जैसी ही होती है !
  • स्वस्थान: स्वस्थान का वर्ड ऑफ़ कमांड उस समय दिया जाता है जब जवान किसी लेक्चर क्लास में बैठ हो और लेक्चर ख़त्म होने के बाद उन्हें छोड़ना है तो वर्ड ऑफ़ कमांड दिया जाता है  क्लास स्वस्थान वर्ड ऑफ़ कमांड पे सभी जवान बैठे बैठे  अपने हाथ को दोनों पैरो पे रख कर सीधा करेंगे(यानि बैठे बैठे सावधान होंगे ) और खड़ा होकर क्लास से बहार चले जायेगा ! 
जरुर पढ़े : खड़े खड़े सलूट का तरीका और जरुरत


ये रही  विशार्जन , लाइन तोड़ और स्वस्थान की वर्ड ऑफ़ कमांड और करवाई के बारे में जानकारी !उम्मीद है पोस्ट पसंद आएगा अगर कोई कमेंट या सुझाव हो तो जरुर दे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब  करके हमलोगों को सपोर्ट करे!

इस ब्लॉग से कुछ डाउनलोड करना है तो आप डाउनलोड सेक्शन से जा कर उसे लिंक के ऊपर क्लिक करकेडाउनलोड कर सकते है !

इसे भी  पढ़े :
  1. भारतीय पुलिस ड्रिल ट्रेनिंग में इस्तेमाल होने वाले परेड कमांड का हिंदी -इंग्लिश रूपांतरण
  2. ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है
  3. ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते
  4. VIP गार्ड ऑफ़ ऑनर के नफरी और बनावट
  5. विश्राम और आराम से इसमें देखने वाली बाते !
  6. सावधान पोजीशन से दाहिने, बाएं और पीछे मुड की करवाई
  7. आधा दाहिने मुड , आधा बाएं मुड की करवाई और उसमे देखने वाली बाते !
  8. 4 स्टेप्स में तेज चल और थम की करवाई
  9. फूट ड्रिल -धीरे चल और थम
  10. खुली लाइन और निकट लाइन चल

Saturday, July 30, 2016

Drill: 2 स्टेप्स में खड़े खड़े बाएँ सलूट की करवाई का तरीका

पिछले  पोस्ट में हमने खड़े खड़े दाहिने सलूट के बारे में जानकारी हासिल किये ! इस पोस्ट में  हम खड़े खड़े बाएँ सलूट (Khade khade baen salut ka tarika) के ड्रिल की करवाई के बारे में जानकारी शेयर करेंगे !


खड़े खड़े बाएँ सलूट की जरुरत(Khade khade baen salute ki jarurat) :  जैसे खड़े खड़े दाहिने सलूट कर कोई सलूट नहीं होता है उसी तरह खड़े खड़े बाएँ सलूट कर कोई सलूट नहीं होती है !तेज चाल में बाएँ  सलूट की मूवमेंट को दुरुस्त करने के लिए खड़े कड़े बाएँ सलूट की करवाई की  अभ्यास कराई जाती है!

जरुर पढ़े : पुलिस यूनिफार्म पहनते समय देखनेवाली बातें

खड़े खड़े बाएँ  सलूट की वर्ड ऑफ़ कमांड (Khade khade baen salute ka word of command) : सलूट करना बाएँ  सलूट -सलूट , गिनती से सलूट करना बाएँ  सलूट एक -एक  स्क्वाड - दो

खड़े खड़े बाएँ सलूट की ड्रिल करवाई (2 steps for Khade khade baen salute) :
  1.  जब सावधान पोजीशन से वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है गिनती से सलूट करना बाएँ  सलूट एक तो इस वर्ड ऑफ़ कमांड पर करवाई इस प्रकार से करे ! सीखे हुए तरीके से दाहिने बाजु को पूरा दाहिने लेकर सलूट  करे साथ ही कोहनी से बाजु को मोड़तेहुए चेहरे को  पूरा बाएँ  टर्न करे और काउंट करे एक !
  2. जब वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड -दो  दाहिने हाथ को नजदीकी  के रस्ते निचे गिराए चेहरे को समाने लाए और शोउटिंग करे -दो !
खड़े खड़े बाएँ  सलूट के पोजीशन एक में देखने वाली बातें (Khade khade baen salute me dekhne wali bate) :इस पोजीशन में देखने वाली बाते 
  • दाहिना हाथ की चारो अंगुलिया और अंगूठा सीधा और सीधा !
  • कलमे  वाली अंगुली दाहिनी आंख की भौ से 1 इंच ऊपर बिच में !
  • कलाई से लेकर कोहनी  तक 45 डिग्री  एंगल !
  • कोहिनि से कंधे  तक ज़मीन के सामानांतर !
  • चेहरा का पूरा रुख बाएँ  और निगाह हथेली के आगे से  पूरा दाहिने एखते हुए !
  • बाकि पोजीशन सावधान 

खड़े खड़े बाएँ सलूट के पोजीशन दो  में देखने वाली बातें(Khade khade baen salute me dekhne wali bate) :इस पोजीशन में देखने वाली बाते
  • पोजीशन ऑफ़ सावधान 
इस ड्रिल का बार बार अभ्याश करने से तेज चल सेबाएँ सलूट  का ड्रिल में सुधार आता है  इस लिए  इस ड्रिल का काफी अभ्यास कराया जाता है क्यों की बाएँ  सलूट की करवाई ट्रेनिंग के बाद भी बहुत पड़ती है !

नोट उस्ताद के लिए  : इस ड्रिल का नमूना देते समय उस्ताद को चाहिए की ट्रेनीज का आधा दायरा बनवाए ! और सभी ट्रेनीज के दिखाई दे ऐसे जगह से नमूना दे ! और जब ट्रेनीज बाएँ सलूट प्रैक्टिस करे उस समय स्कौड़ को  आधा दाहिने  मुड की करवाई कर सभी ट्रेनीज का पोजीशन चेक करना चाहिए !

उम्मीद है पोस्ट पसंद आएगा अगर कोई कमेंट या सुझाव हो तो जरुर दे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब  करके हमलोगों को सपोर्ट करे!


इस ब्लॉग से कुछ डाउनलोड करना है तो आप डाउनलोड सेक्शन से जा कर उसे लिंक के ऊपर क्लिक करकेडाउनलोड कर सकते है !

इसे भी  पढ़े :
  1. भारतीय पुलिस ड्रिल ट्रेनिंग में इस्तेमाल होने वाले परेड कमांड का हिंदी -इंग्लिश रूपांतरण
  2. ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है
  3. ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते
  4. VIP गार्ड ऑफ़ ऑनर के नफरी और बनावट
  5. विश्राम और आराम से इसमें देखने वाली बाते !
  6. सावधान पोजीशन से दाहिने, बाएं और पीछे मुड की करवाई
  7. आधा दाहिने मुड , आधा बाएं मुड की करवाई और उसमे देखने वाली बाते !
  8. 4 स्टेप्स में तेज चल और थम की करवाई
  9. फूट ड्रिल -धीरे चल और थम
  10. खुली लाइन और निकट लाइन चल

ड्रिल : 2 स्टेप्स में खड़े खड़े दाहिने सलूट की करवाई की तरीके

हमने अपने पिछले पोस्ट में खड़े खड़े सामने सलूट(Khade khade samne salute) के बारे में जानकारी हासिल किए !  इस पोस्ट में हम ड्रिल के एक और कमांड और ड्रिल करने का तरीके के बारे में बात करेंगे "खड़े खड़े दाहिने सलूट करना  (Khade khade dahine salute)"


जैसे की हम जानते है की ड्रिल डीसिपिलिन की बुनियाद है और सलूट भी ड्रिल का एक अहम हिस्सा है जिससे  एके जवान या यूनिट का डीसिपिलिन की स्तर को पता लगाया जा सकता है !

जरुर पढ़े : परेड ड्रिल में आगे और पीछे कदम लेना !

खड़े खड़े दाहिने सलूट की जरुरत (Khade khade dahine salute ki jarurat) : ऐसे तो खड़े खड़े दाहिने सलूट अपने आप में कोई ड्रिल नहीं है लेकिंन ट्रेनिंग के दौरान ट्रेनीज को  तेज चाल में दाहिने सलूट की मूवमेंट को दुरुस्त करने के लिए खड़े कड़े दाहिने सलूट की करवाई की जाती है

खड़े खड़े दाहिने सलूट की वर्ड ऑफ़ कमांड (Khade khade dahine salute ka word of command) :  सलूट करना दाहिने सलूट -सलूट , गिनती से सलूट करना दाहिने सलूट एक -एक  स्क्वाड - दो
खड़े खड़े दाहिने सलूट की ड्रिल करवाई (2 steps for Khade khade dahine salute) :
  1.  जब सावधान पोजीशन से वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है गिनती से सलूट करना दाहिने सलूट एक तो इस वर्ड ऑफ़ कमांड पर करवाई इस प्रकार से करे ! सीखे हुए तरीके से दाहिने बाजु को पूरा दाहिने लेकर सलूट  करे साथ ही कोहनी से बाजु को मोड़तेहुए चेहरे को भी पूरा दाहिने टर्न करे और काउंट करे एक !
  2. जब वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड -दो  दाहिने हाथ को नजदीकी  के रस्ते निचे गिराए चेहरे को समाने लाए और शोउटिंग करे -दो !

खड़े खड़े दाहिने सलूट के पोजीशन एक में देखने वाली बातें (Khade khade dahine salute me dekhne wali bate) :इस पोजीशन में देखने वाली बाते 
  • दाहिना हाथ की चारो अंगुलिया और अंगूठा सीधा और सीधा !
  • कलमे वाली अंगुली दाहिनी आंख की भौ से 1 इंच ऊपर बिच में !
  • कलाई से लेकर कोहनी  तक 45 डिग्री  एंगल !
  • कोहिनि से कंधे  तक ज़मीन के सामानांतर !
  • चेहरा का पूरा रुख दाहिने और निगाह हथेली के आगे से  पूरा दाहिने एखते हुए !
  • बाकि पोजीशन सावधान 
खड़े खड़े दाहिने सलूट के पोजीशन दो  में देखने वाली बातें(Khade khade dahine salute me dekhne wali bate) :इस पोजीशन में देखने वाली बाते
  • पोजीशन ऑफ़ सावधान 

इस ड्रिल का बार बार अभ्याश करने से तेज चल से दाहिने साल्ट का ड्रिल में सुधार आता है  इस लिए  इस ड्रिल का काफी अभ्यास कराया जाता है क्यों की दाहिने सलूट की करवाई ट्रेनिंग के बाद भी बहुत पड़ती है !

नोट उस्ताद के लिए  : इस ड्रिल का नमूना देते समय उस्ताद को चाहिए की ट्रेनीज का आधा दायरा बनवाए ! और सभी ट्रेनीज के दिखाई दे ऐसे जगह से नमूना दे ! और जब ट्रेनीज बाएँ सलूट प्रैक्टिस करे उस समय स्कौड़ को  आधा दाहिने  मुड की करवाई कर सभी ट्रेनीज का पोजीशन चेक करना चाहिए !

उम्मीद है पोस्ट पसंद आएगा अगर कोई कमेंट या सुझाव हो तो जरुर दे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब  करके हमलोगों को सपोर्ट करे!

इस ब्लॉग से कुछ डाउनलोड करना है तो आप डाउनलोड सेक्शन से जा कर उसे लिंक के ऊपर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते है !

इसे भी पढ़े :
  1. लिस यूनिफार्म और उसका इतिहास
  2. पुलिस यूनिफार्म पहनते समय देखनेवाली बातें
  3. सलूट की महत्व और सलूट कैसे कब करने का तरीका
  4. एक लाइन, दो लाइन और तीन लाइन कब और कैसे बनाया जाता है
  5. 222 इंग्लिश - हिंदी परेड कमांड का संकलन 
  6. फासला रखते हुए दाहिने, बाएँ और मध्य सज की करवाई
  7. 4 स्टेप्स के तेज चाल से दाहिने मुड करवाई पूरा करना
  8. 4 स्टेप्स में तेज चल कि करवाई कैसे की जाती है
  9. 5 स्टेप्स में तेज चाल से पीछे मुड की पूरी करवाई
  10. खड़े खड़े सलूट का तरीका और जरुरत

Thursday, July 28, 2016

ड्रिल: खड़े खड़े सलूट का तरीका और जरुरत

इस पोस्ट में हम खली हाथ ड्रिल का एक और ड्रिल के बारे में  जानकारी  हासिल करेंगे " खड़े खड़े सामने सलूट  करना(Khade khade salute karne ka tarika) " इसके पहले के पोस्ट में हम पीछे मुड की करवाई के बारे में जानकारी हासिल किये !


खड़े खड़े सामने सलूट  ड्रिल की जरूरत(Khade khade salute ki jarurat) :  जब हम किसी जगह पे खड़े है और हमारे सामने से कोई सलूट अधिकारी गुजरे तो उन्हें इज्ज़त देने के लिए खड़े खड़े सामने सलूट की करवाई की जाती है !

जरुर पढ़े : ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है

खड़े खड़े सामने सलूट का वर्ड ऑफ़ कमांड (Khade khade salute ka word of command): सलूट करना सामने सलूट - सलूट ! गिनती से सलूट करने का वर्ड ऑफ़ कमांड - सलूट करना सामने सलूट  एक -एक स्क्वाड  दो-दो !
खड़े खड़े सलूट
खड़े खड़े सलूट 
खड़े खड़े सामने सलूट  ड्रिल की करवाई(Khade khade salute ki drill karwai) :  जब वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है गिनती से सलूट करना सामने सलूट एक तो करवाई इस प्रकार से करे :
  • दाहिने बाजु को दाहिने तरफ सीधा उठाते हुए कंधे के बराबर लायें ! और कोहनियोसे मोदते हुए अंगुलिओं को सीधे और मिलते हुए कलमे वाली अगुली को दाहिने आंख की भौ से एक इंच ऊपर लगाये और शौटिंग करे- एक 
  • वर्ड  ऑफ़ कमांड मिलता है- दो   तो दाहिने हाथ को नजदीक के रास्ते तेजी से गिराएं   और शोउटिंग करे दो !

खड़े खड़े सामने सलूट  ड्रिल की नंबर एक के पोजीशन में देखने वाली बातें (Khade khade salute me dekhne wali bate):
  • दाहिने हाथ की अंगुलिया और अंगूठा सीधा और मिले हुए !
  • कलमे वाली अंगुली  दाहिने आंख के भौ से तक़रीबन एक इंच ऊपर 
  • कलाई से कोहनी तक 45 डिग्री का एंगल 
  • निगाह सामने 
खड़े खड़े सामने सलूट  ड्रिल की नंबर दो  के पोजीशन में देखने वाली बातें :
  • दोनों हाथ बगल में चिपका हुआ जैसे पोजीशन सावधान किया हुआ !

इस प्रकार खड़े खड़े सामने सलूट की करवाई दो एक्शन में पूरा होती है ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा एक्टिवेट कर के हमलोगों को सपोर्ट करे !
इसे भी  पढ़े :
  1. परेड ड्रिल में आगे और पीछे कदम लेना !
  2. पुलिस यूनिफार्म और उसका इतिहास
  3. पुलिस यूनिफार्म पहनते समय देखनेवाली बातें
  4. सलूट की महत्व और सलूट कैसे कब करने का तरीका
  5. एक लाइन, दो लाइन और तीन लाइन कब और कैसे बनाया जाता है
  6. 222 इंग्लिश - हिंदी परेड कमांड का संकलन 
  7. फासला रखते हुए दाहिने, बाएँ और मध्य सज की करवाई
  8. 4 स्टेप्स के तेज चाल से दाहिने मुड करवाई पूरा करना
  9. 4 स्टेप्स में तेज चल कि करवाई कैसे की जाती है
  10. 5 स्टेप्स में तेज चाल से पीछे मुड की पूरी करवाई

आवाज़ तथा बेअरिंग के मेथड से फासले का अनुमान लगाने का तरीका

इस पोस्ट में हम फासले का अनुमान आवाज़ सुनकर और बेअरिंग पढ़कर कैसे कर सकते है (Sound sunkar ttha bearing padh kar fasale ka anuman kaise laga sakte hai )उसके बारे में जानेगे वैसे से फासले का अनुमान लगाने के बारे में मेरा पिछला पोस्ट भी है जिसमे हमने डिटेल से फासले का अनुमान(fasle ka anuman laganane ka vidhi) और सभी तरीके से कैसे लगा सकते है उसके बारे  में जानकारी शेयर की  आप उसे भी देख सकते है !



फासले के अनुमान लगाने के ऊपर ज़मीनी बनावट और मौसम बहुत ही असार डालते है इस लिए फासले का अनुमान लगते समय इन दोनों के ऊपर बहुत ही ध्यान देना की जरुरत होती है !

जरुर पढ़े : फिल्डक्राफ्ट और उसके फायदे

जैसे की हम जानते है की फासले का अनुमान निम्न तरीके से लगे जा सकती है :
  • इकाई का तरीका 
  • दिखाई का तरीका 
  • की रेंज का तरीका 
  • ब्रक्केटिंग का तरीका 
  • सेक्शन एवरेज  का तरीका 
  • आवाज़ का तरीका 
  • बेअरिंग का तरीका 
जैसे की मैंने पहले बता चूका हु की इस पोस्ट में केवल मै आवाज़ का तरीका और बेअरिंग का तरीका के बारे में ही बात करेंगे क्यों की और सब तरीको के बारे में ह्म अपने पिछले पोस्ट में आलरेडी जिक्र कर चुके है !

1.  ध्वनि या आवाज़ का तरीका(Awaz ke method se duri ka anuman lagane ka tarika): ध्वनि या आवाज़ का तरीका से फासला का अनुमान लगाने के वक्त हम आवाज की गति है जिस गति से एक जगह से दुसरे जगह तक जाती है उसका इस्तेमाल करते है !  इस विधि से फासला का अनुमान लगाना आसान है लेकिंन इसके लिए बहुत प्रैक्टिस की जरुरत है अगर प्रैक्टिस किया जाय तो इस विधि से हम काफी स्टिक फासले का अनुमान लगा सकते है  लेकिन इसके लिए गोली का साउंड, धुवा अ चमक की जरुरत पड़ेगी !

जरुर पढ़े : फासले का अनुमान लगाना और अनुमान लगाने का तरीका

जैसे की हम जानते है की आवाज़ एक सेकंड में तक़रीबन 366 गज (1100 फीट ) तक जाती है !जैसे ही गोली या गोला फायर हो  और उसका चमक दिखाई दे फौरन एक सेकंड में 4(1,2,3,4) के हिसाब से  गिनती गिननी शुरू करे और जब धमाका सुनाई दे तब गिनती बंद करे ! अगर चमक या धुवा देखने तथा धमाका सुनकर गिनत बंद करने तक  हमने जितनी गिनती की है, चमक या धुवा की दुरी उतना सौ गज है !

यानि गिनती रोकने तक अगर गिनती 3 की है तो दुरीं 300 गज  तक की है और यदि  8 तक गिनती की है तो 8 सौ गज की है !

जरुर पढ़े : पेट्रोलिंग और नाईट पेट्रोलिंग और उसके टास्क और नफरी

शुरू शुरू में सही गिनती करना थोडा मुस्किल है लेकिंग ये अभ्यास से ठीक हो जाएगी इसकी अभ्यास के लिए मालूम दुरी से फायर करे और गिनती का प्रैक्टिस करे ! जब एक जवान सही गिनती काउंट करता है तो  ओ पांच सेकंड में 10 तक दो बार गिनती कर सकेगा !

जब 10 से ज्यादा गिनती करनी है तो 10 के बाद दुबारा गिनती करे क्यों की 11, 12 बोलने में ज्यादा समय लगता है और गिनती की रफ़्तार ख़राब हो जाएगी! अच्छा प्रैक्टिस कर लेने पर आँख से देख कर फासले का अनुमान लगाने के बजाये आवाज़ को सुन कर दुरी का अनुमान लगा सकते है ! रात के समय ये तरीका बहुत ही काम का है ! 
2.  बेअरिंग का तरीका(Bearing padhkr duri ka anuman lagane ka tarika ) : इस तरीके में हम जिस पॉइंट का फासला मालूम करना रहता है उसका बेअरिंग कंपास से मालूम करते है  और जिस जगह से बेअरिंग मालूम किया है उसे जमीन पे एक निशान लगा देते है !

बेअरिंग  मालूम करने के बाद उस जगह से उस पॉइंट के 90 डिग्री पे दाहिने या बाएँ तब तक चले जब तक के उस टारगेट की बेअरिंग में 5 डिग्री का फासला न आजाये ! आब इस नै जगह से उस जगह की दुरी मापे जहासे आपने पहली बार बेअरिंग ली थी और जो दुरी आये उसमे 11.4 से गुना कर दे आपको सही फासला मिल जायेगा
 !
उदाहरण स्वरुप :


अगर हमें ऊपर के इमेज से पॉइंट B से पॉइंट A के बिच की फासले का अनुमान लगाना है तो इसके लिए

  • पॉइंट B से पॉइंट A का बेअरिंग कंपास से पढेंगे : मान ले पॉइंट B से पॉइंट A की बेअरिंग 70 डिग्री है !
  • उसके बाद हम दाहिने या बाएँ 90 डिग्री में  चलेंगे जब तक की 70 डिग्री में 5 डिग्री का फर्क न आजाये ! मान ले हम पॉइंट C तक चले और पॉइंट C से पॉइंट A की बेअरिंग 75 डिग्री आ गई !
  • अब हम पॉइंट B से पॉइंट C के बीच की जमीन दुरी माप लेंगे ! मान ले की पॉइंट B और C की बीच की दुरी 15 मीटर है !
  • तो ऊपर बताये गए तारिक से 11.4 को इस 15 मीटर में गुणा कर देंगे और जो रिजल्ट आएगा वही दुरी है पॉइंट B से पॉइंट A का और इस केस में = 15  x  11 .4 = 171 मीटर है  

इस प्रकार से हम फासले का अनुमान साउंड मेथड(Sound method se distance judge karna) और बेअरिंग मेथड (Bearing method se distance judge karna)से मालूम कर सकते है ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और ब्लॉग को सब्सक्राइब  और सपोर्ट करे
इसे भी  पढ़े :
  1. फिल्डक्राफ्ट और उसके फायदे
  2. फासले का अनुमान लगाना और अनुमान लगाने का तरीका
  3. चीजे क्यों दिखाई देती है टारगेट को कैसे बयान करते है ?
  4. कामोफ्लाज और कांसिल्मेंट तथा फायर कण्ट्रोल आर्डर की जानकारी
  5. कमोफ्लाज के सिद्धांत , और कामोफ्लाज करने का तरीका
  6. कोसिल्मेंट क्या है और उसका तरतीब
  7. स्टाकिंग क्या है ? और स्टाकिंग के फायदे तथा और जाननेवाली बाते !

स्टाकिंग क्या है ? और स्टाकिंग के फायदे तथा और जाननेवाली बाते !

इस पोस्ट में हम स्टाकिंग(Stalking) करने का तरीका (Stalkng karne ka tarika)और स्टाकिंग(Stalking) करते समय ध्यान में रखने वाली क्या क्या बाते तथा स्टाकिंग (Stalking) के क्या क्या फायदे है(Stalking ke fayde) के बारे में जानकारी हासिल करेंगे जब की पिछले पोस्ट में हमने कांसिल्मेंट के बारे में जानकारी शेयर किये !



स्टाकिंग(Stalking) का  डिक्शनरी मीनिंग होता है छुप के किसी का पीछा करना और बहुत से देशो के  सिविल  कानून में स्टाकिंग  एक क्राइम है लेकिंग वही ऑपरेशनल एरिया में एक आर्म्ड फाॅर्स के जवान के लिए

जरुर पढ़े : सर्विस प्रिज्मैटिक लिक्विड कम्पास MK-iii के 20 पार्ट्स और उनके काम

स्टाकिंग(Stalking) एक कला है जिसे ट्रेनिंग के दौरान सिखलाई दी जाती है  जिसमे की खाली हाथ और हथियार के साथ चल कर दुश्मन के नजदीक से नजदीक पहुच कर एक्शन लेना सिखाई जाती है  और यह अपेक्षा रखी जाती है की सभी जवान स्टाकिंग(Stalking) में माहिर हो !
Stalking through various chaal
Stalking through various chaal 
स्टाकिंग के फायदे (Stalking ke fayde):लड़ाई के मैदान  में  छुपाओ हासिल करके दुश्मन तक जाने के कई फायदे है :

  • दुश्मन तक पहुच कर पहल हासिल कर सकते है और दुश्मन को रियेक्ट करने का मौका नहीं देते है !
  • पेट्रोलिंग में गया हुआ जवान बिना किसी नुकसान के अप टास्क पूरा कर सकता है !
  • स्नाइपर के तौर पर कम कंरने वाला जवान दुश्मन केफिरे और नज़र से बचकर उस पर फिरे दाल सकता है !
  • स्टाकिंग से हर जवान इस काबिल बन जाते है की वह दुश्मन के फिरे और नज़र से बचने के लिए उस इलाके की हर एक कुदरती और बनावती चीजों का फ़ायदा उठा सकें जैसे : दरख्त , झाडिया ,माकन, टूटी फूटी जमीन ,दिवार अदि !

एक स्टाल्कर के जानने वाली बाते(Stalking suru karne se pahle janne wali bate) : एक स्टाल्कर को स्टाकिंग शुरू करने से पहले इन बातो को बखूबी जान और समझ लेना चाहिए ! 
  • घात लगाने का तजबीज : स्टाकिंग का तजबीज बनाते समय एक स्टाल्कर को  घात लगाने की तजबीज भी आनी चाहिए  ताकि जरुरत पड़ने पे ओ दुश्मन के ऊपर घात लगा के भी हमला कर सके !
देखभाल : स्टाकिंग शुरू करने से पहले इन बातो को अच्छी तरह से देखभाल करना चाहिए !
  1. दुश्मन का पोजीशन : दुश्मन के पोजीशन को मदद के निशानों से यद् रखना !
  2. दुश्मन की दूसरी पोजीशन : हो सकता है की स्टाल्क करने वाली पोसितों के अलावा भी दुश्मन का और भी पोजीशन उस इलाके में हो तो उसके बारे में पता होना चाहिए !
  3. आखरी फायर पोजीशन : दुश्मन के नजदीक से नजदीक आखरी फायर पोजीशन का चुनाव जहा से दुश्मन का पोजीशन ठीक नज़र आये और कारगर फायर डाला जा सके इसको मदद के निशान से याद करे 
  4. रास्ता : हवा फोटो , मैप या ज़मीन की बनावट के लिहाज़ से मदद लेते हुए रास्ता का चुनाव करे !

 रास्ता चुनते वक़्त रास्त चुनते समय चंद बातों का ख्याल रखे (Stalking ke liye rasta chunte samay dhyan me rakhne wali bate)!
  • टाइम : रास्त का चुनाव करते समय एक स्टाल्कर को ये सोचना चाहिए की उसके पास वक़्त कितना है !
  • दबी ज़मीन : रास्ता दबी ज़मीन में चुना जाए ताकि दुश्मन की नज़र और फिरे दोनों से बचाव मिल सके  और खुद देखभाल भी कर सके !
  • फायर पोजीशन : रस्ते में फायर पोजीशन चुनना चाहिए ताकि जरुरत पड़ने पर जल्दी दुश्मन पर फिरे डाल सके !
  • बाउंड : चुने हुए रस्ते में बोउन्ड्स का होना बहुत ज़रूरी है बोउन्ड्स यानि ऐसी जगह पर स्टाल्कर ऑब्जरवेशन यानि देखभाल करने के लिए तैयार और जरुरत पड़ने पे दुश्मन के ऊपर वार भी करें !
  • रुकावट : रस्ते में रुकावट न हो यदि हो तो उसे पार करने का बंदोबस्त कर लेना चाहिए !
  • दूसरा रास्ता :ऐसा दूसरा रास्ता होना चाहिए जो ज़रूरत पड़ने पर कम में लाया जा सके !
स्टाल्कर  के लिए जरुरी बाते(Stalker ke vishesh gun) : ऊपर हमने एक स्टाकिंग  के लिए जरुरी बातो के बारे में जानकारी ली उसी तरह से स्टाकिंग इ लिए भी कुछ जरुरी बातें है ! जैसे :
  • चौकनापन:स्टाकिंग करने वाले जवान की गलती करने का नतीजा उसका मौत है  इसलिए स्टाल्कर को हमेश चौकना और होशियार रहना चाहिए !
  • पहल करना : अगर दुश्मन अचानक नज़र आ जाए तो हमेशा पहले उस पर फायर किआ जाय और मुनासिब करवाई करो या उसी जगह सक  हो जाने पर मुनासिब सुरक्षित पोजीशन  पे चले जाओ !
  • दुश्मन को धोखा दो : धोखा देने की तजवीज पहले से बनी हो उक्तालिफ आवाज़ों से भी दुश्मन को धोखा दे सकते है !
  • ज़मीन का फ़ायदा : जहाँ पर चल कर जा सकते है वहां रेंग कर मत जाओ ऐसेकारने से वक़्त और ताकत बर्बाद होता है !
  • जानवरों और परिंदों से बचो : उनकी हरकत और आवाज़ से दुश्मन को स्ताल्कर की मौजूदगी का सक कर सकता है !
  • दुश्मन के नजदीक जाना : दुश्मन के इतना नजदीक जाओ जितना ज़रूरी है ! इतना नजदीक जाओ की दुश्मन को देखकर मुनासिब करवाई किया जा सके लेकिन खुद दुश्मन दिखाई  न दो !
  • फिरे की तरतीब : फायर के बारे में सोच समझकर और सबर से फायर करना चाहिए ! स्ताल्किंग की करवाई पूरा करने के बाद अगर तुरंत गोली ठीक जगह पर न लगे तो तमाम करवाई बेकार और स्ताल्केर खुद दुश्मन का शिकार बन सकता है !
  • एक पोजीशन से एक या दो राउंड से ज्यादा फायर न करे !
  • रीलोड की करवाई अहिस्ता  से करे 
  •  यदि दुबारा फिरे करना हो तो दूसरी पोजीशन पहले से चुन कर रखे !

ये रही स्टाकिंग तथा स्टाकिंग से होने वाले फायदे और दूसरी जाननेवाली बाते उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! कोई कमेंट या सुझाव हो तो निचे कमेंट बोक्से लिखे तथा इस ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब कर के सपोर्ट करे 

इन्हें भी  पढ़े :

Wednesday, July 20, 2016

कोसिल्मेंट क्या है और उसका तरतीब

इस पोस्ट में हम जानेगे की कांसिल्मेंट क्या होता है और कांसिल्मेंट का तरितीब तथा ध्यान में रखने वाली बातें (Concealment kya hai ? concealment ka taritib ttha dhyan me rakne wali bate), हमने अपने  पिछले पोस्ट में कामोफ्लाज के सिद्धांत (Camouflage ke siddhant)के बारे में जाकारी शेयर किये थे !



जैसे की हम जानते है की एक आर्म्डफाॅर्स  के हरेक जवान को कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के बारे में जानकारी होने चाहिए तथा वो ऑपरेशन के दौरान अपनी बचाव करते हसे दुश्मनके नजदीक से नजदीक पहुच कर अपना टास्क पूरा कर सकुशल  यूनिट वापस आ सकता है !

जरुर पढ़े : दिन के समय उत्तर दिशा मालूम करने का तरीका

क्यों की आपको यह यद् रखना चाहिए जो दुश्मन देख सकता है वह उसके ऊपर कारगर फायर डालकर बर्बाद कर सकता है इसलिए ये सभी को जरुरी है की कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के बारे में जाने ये आपके और आपके प्रोफेशन के लोगो के सुरक्षित अपनी टास्क पूरा करने मदद करता है !
Concealment ke tartib
Concealment ke tartib
कांसिल्मेंट क्या है(Concealment kya hai ?) : कांसिल्मेंट का अर्थ है किसी भी वास्तु के पीछे या निचे छुपाओ जबकि कामौफ्लाज में तो अपने आप को या इक्विपमेंट को इलाके के मुताबिक बनाया जाता है जबकि कांसिल्मेंट में किसी आड़ के पीछे छुपाव से करवाई की जाती है !

कांसिल्मेंट का तरतीब(Concealment ka tartib kya hota hai?) :कांसिल्मेंट के कुछ तरतीब इस प्रकार से है :

जरुर पढ़े :कंपास को सेट करना तथा इस्तेमाल करने का तरीका
  1. दबी ज़मीन का इस्तेमाल करे 
  2. पेड़ या हेज रो का इस्तेमाल करे 
  3. बिल्डिंग या दीवार का इस्तेमाल करे 
  4. ट्रेंच बना कर कांसिल्मेंट करे 
कांसिल्मेंट के समय ध्यान में रखने वाली कुछ बाते (Concealment ke samay dhyan me rakhne wali bate kya hai?):

  1. आड़ के साइड से देखे ऊपर से नहीं 
  2. सतह को न तोड़े 
  3. खास कर इलाके में हरकत न करे 
  4. दबी ज़मीन का इस्तेमाल करे 
  5. आवाज़ न करे  इतियादी , 

इन सब बातो को अगर ध्यान में रखे तो हमारी कांसिल्मेंट उम्दा दर्जे की होगी और हम दुश्मन को धोखा दे सकते है ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आयेगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करे !

इसे भी  पढ़े :
  1. फिल्डक्राफ्ट और उसके फायदे
  2. फासले का अनुमान लगाना और अनुमान लगाने का तरीका
  3. चीजे क्यों दिखाई देती है टारगेट को कैसे बयान करते है ?
  4. कामोफ्लाज और कांसिल्मेंट तथा फायर कण्ट्रोल आर्डर की जानकारी
  5. कमोफ्लाज के सिद्धांत , और कामोफ्लाज करने का तरीका

कमोफ्लाज के सिद्धांत , और कामोफ्लाज करने का तरीका

इस पोस्ट में हम जिस विषय में बात करेंगे ओ है कोमोफ्लाज के सिद्धांत और कामोफ्लाज करने का तरीका(Camouflage ke siddhant aur camoflage karne ka tarika) जैसे की में मेरा पिछला पोस्ट को जो की कामोफ्लाज और कांसिल्मेंट और फायर कण्ट्रोल आर्डर के बेसिक जानकारी के बारे में थी रीडर्स द्वारा बहुत  पढ़ी गई है !



जैसे की हम जानते है के कामोफ्लाज के द्वारा हम दुश्मन को देखभाल से धोखा देते है ! ये धोका हम दो तरह से दे सकते है :
  1. अपने ट्रूप्स , हरकत और इक्विपमेंट को छुपाव  में रख कर !
  2. अपने ट्रूप्स , हरकतों और इक्विपमेंट का गलत अहसास देकर 

टारगेट को बर्बाद करने के लिए जरुरी है की दुसमन की सही लोकेशन पता चले ! लेकिंग हम कामोफ्लाज के ज़रिये हम दुश्मन की इस करवाई को नाकारा कर सकते है !इस लिए सभी जवानों को अपना दिमाग इस्तेमाल करते हुए दुश्मन को धोखा  देना आना चाहिए !
Camoflage ke usul
Camoflage ke usul
जैसे की चीजे हमे जिन कारणों से नजर आती है  उन्हें  हम 6S और एक M के द्वारा विवरण  करते है और कामोफ्लाज करते समय हम उन्ही 6S और 1M को हटा के या आस पास के वस्तुओ से मिलाने की कोसिस करते है जितने अच्छे तरीके से हम उससे मिल या मिला लेते है उतने ही  अच्छी तरह से कामोफ्लाज हम कर पाते है !

जरुर पढ़े : टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I

कामोफ्लाज के सिद्धांत(Camouflage ke basic siddhant) : कामोफ्लाज के तीन बेसिक सिद्धांत होते  है
  1. इलाके का चुनाव(Ilake ka chunao) : चुनाव के लिए सबसे बेहतर इलाका वोह है जहाँ पर वास्तु अपने आसपास के इलाके से मिलते जुलते हो ! इसमें ध्यान में रखने वाली एक बात जगह इतनी बड़ी होनी चाहिए जहाँ पर छुपने वाली वास्तु या हरकत को छुपाओ मिल सके !
  2. कामोफ्लाज की डिसिप्लिन(Camouflage ki discipline) : उस वास्तु और इक्विपमेंट के नजदीक कोई हरकत न हों ! दिन के समय दुश्मन हरकत , स्मोक , ट्रैक और मिटटी को देख कर जगह का पता लगा सकता है !
  3. इलाके की बनावट(Ilake ki banawat) : अगर इलाका पूरी तरह से छुपाओ न दे रहा हो तो वहां पर प्रकृति वास्तु जैसे पेड़ पौधे या कृतिम वास्तु का इस्तेमाल किया जा सकता है ताकि ये आसपास के इलाके से मिल सके !
कामोफ्लाज के कुछ बेसिक तरीका :
  • छुपाओ से(Chhupao se) : इस तरीके से एक वास्तु पूरी तरह से छुप जाती है और दुश्मन उसको नहीं देख सकता !
  • इलाके के मुताबिक छुपाओ देना(Ilake ke mutabik chhupaw dena) : इस तरीके से हम एक वास्तु के ऊपर या आस पास के इलाके को कामोफ्लाज कटे है , जिस से लगे की यह उसी इलाके का ही एक  हिस्सा है !
  • धोखा देना(Dhokha dena) : इस तरीके में हम एक इलाके में हरकत या फौजी वास्तु का आकर दिखा कर दुश्मन को धोका देते है ! जिस से उसको लगे की यह करवाई असल की है परन्तु इसका इस्तेमाल दुश्मन को धोका देने के लिए है !
  • व्यक्तिगत कामोफ्लाज (Vyaktigat camouflage)
  1. बदन(Badan) :मोर्चे से बदन के जो जो हिस्से जवान की पोजीशन को जाहिर कर रहे हो उनका क्मोफ्लाज करना चाहिए 
  2.  स्टील हेलमेट(Steel helmet) : इसका चमक और सकल पोजीशन को जाहिर करता है ! इसकी चमक को दूर करने के लिए 1-1/2' x 1-1/2' का बोरी का टुकड़ा लगाओ और कामोफ्लाज नेट शकल बिगड़ने के लिए 5" x 2" के गार्निश के टुकड़े  बेतरतीबी से लगाओ !
  3. चेहरा(Face) : फेस क्रीम का इस्तेमाल करे 
  4. ड्रेसDress ka camoflage) : इलाके के अनुसार ड्रेस पहने 
  5. बूट : चिकनी मिटटी से चमक को दूर करना 
  6. इक्विपमेंट , हथियार, मोर्चा(Equipent, weapon, morcha) :  को कामोफ्लाज नेट से कामोफ्लाज करे 
  7. खुददी मिटटी(khuddi mitti) : इसको आस पास के एरिया के अनुसार वास्तु रख कर अमोफ्लाज करे !

इन सब बातो को अगर हम अगर ध्यान रखे तो हमारा कामोफ्लाज बहुत ही सफल रहेगा और दुशमन को हम धोखा दे पाएंगे ! आशा करता हु ही पोस्ट पसंद आएगी अगर कोई कमेंट हो तो जरुर निचे कमेंट बॉक्स में लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करे

इन्हें भी पढ़े  :
  1. फिल्डक्राफ्ट और उसके फायदे
  2. फासले का अनुमान लगाना और अनुमान लगाने का तरीका
  3. चीजे क्यों दिखाई देती है टारगेट को कैसे बयान करते है ?
  4. कामोफ्लाज और कांसिल्मेंट तथा फायर कण्ट्रोल आर्डर की जानकारी

84 mm राकेट लांचर 2"और 51 mm मोर्टार के खुबिया , खामिया और डिप्लॉय करने का उसुल

पिछले पोस्ट में हमने 7.62 mm LMG के खुबिया , कमिया तथा सिटिंग उसूल के बारे में जानकारी शेयर किये इस पोस्ट में हम 84 mm आर एल  और  2"/51 mm मोर्टार(84 mm Rocket launcher, 2 inch mortar ttha 51 mm mortar ke khubia, kamia aur siting usul) के बारे में जानकारी शेयर करेंगे !



जैसे की आप जानते है की 84mm राकेट लांचर , 2"/51mm मोर्टार एक आर्म्ड फाॅर्स को ऑपरेशन के दौरान दुश्मन को बर्बाद करे में बहुत ही अहम रोले रहते है और ये बड़े से बड़े टारगेट को बर्बाद करने की खासुसिअत रखते है और इसे सही तरीके से इस्तेमाल किया जाय तो ! इस की कुछ खुबिया , कमिया और सिटिंग उसूल इसप्रकार से है !

84 mm राकेट लांचर की खुबिया (81mm RL ki khubia)

जरुर पढ़े : 9mm पिस्तौल के चाल और चाल में सामिल होने वाले हिस्से पुर्जे
  • झटका नहीं देता है जब फायर करते है तो 
  • कंधे पर रख कर फायर किआ जा सकता है !
  • लोहे के अन्दर घुसने की ताकत ज्यादा है इस की heat राउंड  400 mm लोहे की मोटाई को भी भेद सकता है !
  • मल्टी रोल प्ले आर्ट है जैसे , धुएं की पर्दा बनाने और रौशनी पैदा करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है !
  • फौजी दस्तो तथा टैंक के खिलाफ भी इस्तेमाल किआ जा सकता है !
  • किसी पक्के की बनी बिल्डिंग को ध्वस्त करने में भी इस्तेमाल कर सकते है !

84 mm राकेट लांचर की कमिया(81mm RL ki khamia) :

जरुर पढ़े :9 mm पिस्तौल में पड़ने वाले रोके और उसे दूर करने का तरीका
  • शोला पैदा होता है जब फायर करते है इस लिए लोकेशन एक्सपोज  होने की ज्यादा चांसेज रहता है
  • क्रू के लिए आवाज़ बहुत होती है 
  • बेक ब्लास्ट होता है 
84 mm राकेट लांचर की सिटिंग के  उसुस्ल(81mm RL ko lagane ka usul) 

  • छुपाओ में हो 
  • बैक ब्लास्ट के एरिया साफ हो 
  • इनफिलेड फिरे कर सके 
  • डीदिलाड़ेड  पोजीशन में हो 
  • लोकल प्रोटेक्शन हो 
  • फील्ड of फायर साफ हो 
  • टैंक के आने वाले मुमकिन रास्तो को कवीर कर सकता हो !
  • अल्टरनेटिव और सेकेंडरी पोजीशन हो 
  • मशहूर निशान के पास न हो 

2"/51मम मोर्टार की खुबिया (2 inch mrotar/51 mm mortar ki khubia)

जरुर पढ़े : 9mm कार्बाइन मचिन के रोके और उसे दूर करने का तरीका
  • हल्का हथियार है 
  • नॉ 2 की मदद से भरी मात्र में फिरे गिराया जा सकता है !
  • धुवा और रोशनी पैदा करने के लिए इस्तेमाल किआ जा सकता है !
  • डायरेक्ट और इन डायरेक्ट फायर कर सकते है !
  • जहा फ्लैट त्रैजेक्ट्री वाले हथियार कारगर नहीं हो उस जगह फिरे गिरा सकते है !
 2"/51मम मोर्टार की कमिया(2 inch mrotar/51 mm mortar ki khamia) :

  •  शोला देता है 
  • उडान का रास्ता साफ होना चाहिए 
  • डायल साईट का जल्दी से टूटना 

2"/51मम मोर्टार की सिटिंग के उसूल(2 inch mrotar/51 mm mortar ko deploy karne ka usul) 
  • छुपाओ में हो 
  • हीफजत  में हो 
  • दिया हुवा टास्क पूरा कर सके ऐसे जगह पे हो !
  • बम के उड़न के रस्ते साफ हो 
  • मशहूर निशान के पास न हो !
  • लोकल प्रोटेक्शन में हो 
जरुर पढ़े :जनरल टेक्निकल डिटेल्स 5.56 mm इंसास राइफल के कार्ट्रिज के बारे में

किसी भी हथियार का पूरा फ़ायदा तभी उठाया जा सकता है जब सभी कमांडर्स और आर्म्ड फोर्सेज के जवानों को  उन हथियारों को अलग अलग हालत के मुताबिक लगाना आता हो! इस प्रकार से 84mm RL तथा 2"/51mm म्र्टर के खुबिया , कमिया तथा लगानेका उसूल ! उमीद है पोस्ट पसंद आयेगा कोई कमेंट हो तो निचे जरुर लिखे औद इस ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सपोर्ट करे ! ..
इन्हें भी  पढ़े :
  1. इंसास राइफल की दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन
  2. 36 ग्रेनेड के बेसिक जनरल डाटा और ग्रेनेड का इस्तेमाल और पार्ट्स के नाम
  3. नॉ-36 ग्रेनेड का खोलना जोड़ना और ग्रेनेड की चाल
  4. ग्रेनेड के हमला से बचाव और ग्रेनेड फेकने का तरीका !
  5. ट्यूब लौन्चिंग MK-I का बेसिक डाटा और विशेषताए
  6. राइफल ग्रेनेड फायर करने का तरीका और चाल
  7. X-95 राइफल का परिचय और बेसिक स्पेसिफिकेशन डाटा
  8. X-95 राइफल को खोलना जोड़ना तथा हिस्से पुरजो का नाम और साफ सफाई करने का तरीका
  9. X-95 रेफिले में लगने वाले साईट की जानकारी
  10. X-95 राइफल से फायर करने का तरिका

7.62 mm LMG की खुबिया ,कमिया और डिप्लॉयमेंट के उसूल

पिछले पोस्ट में हमने X-95 राइफल से फायर करने का तरीका और इस पोस्ट में हम 7.62mm LMG की खुबिया , कमिया(7.62 mm LMG ki kamia, khubia aut siting karne ka usul) तथा उसके सिटींग का उसुल के बारे में जानकारी शेयर करेगे !



जैसे की हम जानते है की 7.62 mm LMG एक प्लाटून का बहुत ही अहम हथियार है और जब भी एक सेक्शन स्तर  की नाफरी जब भी पेट्रोलिंग या किसी ऑपरेशनल ड्यूटी के जाती है तो 7.62 mm LMG जरुर अपने साथ रखती है !

जरुर पढ़े : नॉ-36 ग्रेनेड का खोलना जोड़ना और ग्रेनेड की चाल

 जब भी कोई फॉरवर्ड लोकेशन या आउट पोस्ट स्थापित  किया जाता है वह 7.62 mm LMG को की साइटिंग  करते  का बहुतही अहमियत दी जाती !  इस लिए इस पोस्ट  में हम 7.62 mm LMG कुछ खुबिया , खामिया और साइटिंग करने का उसूल  इस प्रकार है

7.62 mm LMG की खुबिया (7.62 mm LMG khubia)
  • एक जवान आसानी से फायर कर सकता है !
  • छुपाव आसान है !
  • सिंगल शॉट और आटोमेटिक शॉट फिरे दोनों कर सकते है !
  • हवा से ठंडा होने वाला हथियार है !
  • रात के वक्त फिक्स्ड लाइन लगाकर फिरे कर सकते है !
  • हवाई जहाज के खिलाफ फिरे कर सकते है !
  • कंधे और बगले से फिरे किया जा सकता है !

7.62 mm LMG की कमिया(7.62 mm LMG kamia)
  • शोला पैदा होताहै जिससे पोसितीं एक्स्पोसे होने के चांसेज ज्यादा रहता है 
  • आवाज़ ज्यादा होता है !
  • फायरिंग से धुल उड़ता है ज्यादा !
7.62 mm LMG  साइटिंग करने का उसूल(7.62 mm LMG Siting karne ka usul): यानि जब 7.62 mm LMG को डिप्लॉयमेंट करने का तरीका इस प्रकार है !
  • छुपाव में हो , अगर कुदरती छुपाओ न हो तो बनावती चीजों का इस्तेमाल करके कामोफ्लाज और कांसिल्मेंट का बंदोबस्त करना चाहिए ! 
  • फील्ड ऑफ़ फिरे कारगर रेंज तक साफ़ हो !
  • मिले हुए टास्क को पूरा कर सके !
  • म्यूच्यूअल सपोर्ट में हो , यानि एक 7.62 mm LMG दुसरे 7.62 mm LMG फ्रंट को  कवर कर सके !
  • डीफिलाडेड पोजीशन हो !
  • अगर पहाड़ी इलाका हो तो स्पर्स को कवर करे और दूसरी गन साथ वाले सेक्शन के फ्रोंतागे को कवर करे 
  • स्काइलाइन पर न हो 
  • प्लुगिंग फायर कम से कम हो 
  • जरुरत हो तो अल्टरनेटिव पोजीशन चुनी जाय !
  • इनफिलादेड फायरहो 

तो ये रही  कुछ खुबिया, कमिया और 7.62 mm LMG के डिप्लॉयमेंट करते समय ध्यान में रखने वाली बाते ! उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा अगर कोई कमेंट हो तो निचे कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! और सब्सक्राइब करे !

इन्हें भी  पढ़े :
  1. INSAS LMGमें पड़ने वाली गैस की कमी का रोक और उसे दूर करने का तरीका
  2. INSAS LMG में पड़ने वाले अन्य रोके तथा उसे दूर करने का तरीका
  3. 9mm पिस्तौल के चाल और चाल में सामिल होने वाले हिस्से पुर्जे
  4. 9 mm पिस्तौल में पड़ने वाले रोके और उसे दूर करने का तरीका
  5. 9mm कार्बाइन मचिन के रोके और उसे दूर करने का तरीका
  6. इंसास राइफल के थ्री ब्रस्ट मेचानिस्ज्म की चल और पुर्जे
  7. जनरल टेक्निकल डिटेल्स 5.56 mm इंसास राइफल के कार्ट्रिज के बारे में
  8. इंसास राइफल की दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन
  9. 36 ग्रेनेड के बेसिक जनरल डाटा और ग्रेनेड का इस्तेमाल और पार्ट्स के नाम
  10. नॉ-36 ग्रेनेड का खोलना जोड़ना और ग्रेनेड की चाल

.